Friday, September 22, 2017
Home Youth अड्डा

Youth अड्डा

आज जब दीवारें ,मर्दाना ताकत बढाएं, और ,खोई हुई जवानी वापस पाएं, के विज्ञापनों से भरी हुई हैं, युवा नाकाम और निराश महसूस होकर हकीम एम जान के विज्ञापनों को आशा की नजर से पढ़ रहा है....उस   विषम हालात में  Youth की परिभाषा फिक्स करना मूर्खता है...आपको बता दें जवान होना सिर्फ  स्टेट आफ माइंड है..यानी ये  चित्त की एक दशा है ..मैं कहूँ तो  मेरी नजर में Youth वही है, जिसने साठ साल की उम्र में भी लौंडापन  महसूस  करना और  बुढौती में भी लवंडई करना नहीं छोड़ा, यहाँ आपको हम Youth अड्डा में इन्हीं मस्तीओं से रु-बरु करवाएंगे... क्योंकि भाई हमारा मानना है कि  अगर जवानी जिंदाबाद है तो जिन्दगी जिंदाबाद है..यूथ अड्डा में आपका स्वागत है..