Friday, August 17, 2018

“विरह के नांच” ( कहानी )

भौजी खाना बना रहीं थीं.तब तक पड़ोस की गीता आ गयी.."ए भौजी.आज बड़ा उदास हो,का बात है.आज भइया के ढेर याद आवत है का.आँय'...

इसी ब्राह्मण ने भीमराव को अम्बेडकर नाम दिया था…

फेसबुक पर कुछ दलित चिंतक बाबा साहेब के बहाने ब्राह्मणवाद,मनुवाद और सवर्ण जैसे शब्दों को पानी पी पी कर गरियाते हैं..मानों फेसबुक से निकल...

जीवन संगीत

8,393FansLike
1,328FollowersFollow
1,862FollowersFollow
32,683SubscribersSubscribe

EDITOR'S PICK

Social Media

Youth अड्डा

गाँव-जवार

LATEST ARTICLE

हमारा समाज