Tuesday, August 14, 2018

हम अफज़ल,कसाब को जान जाते हैं लेकिन नाजनीन अंसारी को नहीं.

बनारस के लोगों को कोई चिंता नहीं कि मीडिया बनारस के बारे में क्या-क्या कहती है.वो उसी मस्ती में पान घुलाये  चले जा रहे..बेखबर....

हमार भोजपुरी ग़ज़ल

  जे कबो सबका के रस्ता बतावत रहे देखीं उहे आज रस्ता भुलाइल बा काल्ह घर घर में जाके हमके जोहत रहे आज उहे अपना घर में लुकाइल...

जीवन संगीत

8,383FansLike
1,328FollowersFollow
1,862FollowersFollow
32,508SubscribersSubscribe

EDITOR'S PICK

Social Media

Youth अड्डा

गाँव-जवार

LATEST ARTICLE

हमारा समाज