Friday, January 18, 2019
Home सोशल अड्डा

सोशल अड्डा

कहते हैं कि मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है..लेकिन आजकल के हालात को देखते हुए कहीं से नहीं लगता कि आदमी रत्ती भर भी प्राणी का गुण रखता है,वो देश -दुनिया और समाज को बनाने-बिगाड़ने की तो खूब बातें करता है..लेकिन बड़ी विडम्बना है कि खुद को छोडकर पूरा समाज बदल देना चाहता है..यहाँ  हमारा समाज   में चर्चा करेंगे विभिन्न ज्वलंत और सामाजिक मुद्दों पर.पहल करेंगे खुद को बदलने की

बढ़ती बेरोजगारी के जमीनी कारण

एक अर्धविकसित गाँव का पूरुब टोला,टोले में तीस घर..उसी घर में आधा ईंट और आधा करकट के सहारे बने एक घर में मोहन प्रसाद...

तुलसी दास अखाड़ा – यहाँ नारी ताड़ना की अधिकारी नहीं है

गीजर के पानी से नहाने वाले क्या जानें कि जाड़े के दिनों में एक आम भारतीय के शरीर में एक संगीतकार की आत्मा किस...
village story,

इवेंट मैनेजमेंट बनाम देहाती मैनेजमेंट

समाचार ई बा कि बबलुआ के हाड़े हरदी लागे के तैयारी हो रहल बा..हित-नात लोग आवे के तैयारी में बा.।बुढ़िया फुआ काल्ह ओहपार से...
social media addiction,facebook addiction essay in hindi,addiction essay in hindi

Social Media Addiction – आभासी इश्क के खतरे जानिए

कल फेसबुक खोलते ही देखा कि हमारे किशोरीलाल अंकल जी का चेहरा शाहरुख खान से मिल गया है और वो ऊंचास लोगों को टैग...
whatsapp success story

WhatsApp हमें क्या सिखाता है ?

सपनों में उलझी है जिंदगी.हम सुलझा रहे हैं दिन-रात...आ रहे हैं,जा रहे हैं,भाग रहे हैं,जाग रहे हैं.कुछ देर बाद सुलझन की एक डोर में...
desh,deshbhakti,padma purashkar

हमने देश के लिए क्या किया साहेब

​कल से मोहल्ले के एक ड्यूड क्रांतिकारी फेसबुक पर बवाल काट दिए हैं.कल जहाँ सब लोग सुबह उठकर तिरंगे झंडे के साथ गणतंत्र दिवस...
diploma

डिप्लोमा इन दुनियादारी 

गाँव के स्कूल में एक मास्टर साहेब थे.नाम था तिरलोचन तिवारी उर्फ़ मरखहवा मास्टर.ज्ञान को हमेशा कपार पर उठाये रहते थे.माघ के जाड़े में...
social media,how to use social media,

Social Media का सार्थक उपयोग कैसे करें ?

चार फिट सात इंच का सिंटूआ गाँव से पहली बार बनारस  पढ़ने के लिए आया था.कहतें हैं तब उसके चेहरे से मासूमियत की गंगा-जमुना...
up election 2017,election nesws,

समाजवाद बबुआ धीरे-धीरे आई..

​एक थे बैजू पांड़े.जिला बलिया के  रँगबाज..छह फिट के छरहर जवान, धरती दबा के आ सीना फुलाके जब चलते थे तो गाँव-जवार के लोग...
indian army join,indian army, indian army stories

एक दीया Indian Army के नाम हो..

यूपी में पौने पांच साल तक तीन ठो सीएम  थे कि चार ठो हमारे मोहल्ले वाले पिंकूआ को इसकी कोई परवाह नहीं है...उसको तो...

सर्वाधिक लोकप्रिय

varanasi news,ustad bismillah khan shahnai,banaras samachar

उस्ताद..आज आपके साथ थोड़ा बनारस भी बिक गया

सादर प्रणाम   उम्मीद है आप जहाँ भी होंगे सकुशल होंगे..देखिये न आज आपके बनारस में सूरज दिल खोलकर निकला है,हवा पंख खोलकर बह रही...
mantua pinkiya, , love letter,valentaine day

मंटूआ-पिंकीया की असली प्रेम कहानी

मौसम में हल्की नमी थी और हवा में बंसत की सुवास.आसमान में देखते ही मन उड़ने लगता था.मानों वो चिल्ला-चिल्ला के कह रहा हो."अब...
insurance,dil ka insurance,health

बी.टेक्स वाले दुल्हनिया ले जाएंगे ?

आज छत पर धूप पसरी  है.अखबार लेकर बैठा हूँ.आसमाँ भी साफ़ है.पक्षी भी उड़ रहे..नावें भी ठीक से चल रहीं.लेकिन कमबख्त मेरा दिल बैठा...
whatsapp success story

WhatsApp हमें क्या सिखाता है ?

सपनों में उलझी है जिंदगी.हम सुलझा रहे हैं दिन-रात...आ रहे हैं,जा रहे हैं,भाग रहे हैं,जाग रहे हैं.कुछ देर बाद सुलझन की एक डोर में...
diploma

डिप्लोमा इन दुनियादारी 

गाँव के स्कूल में एक मास्टर साहेब थे.नाम था तिरलोचन तिवारी उर्फ़ मरखहवा मास्टर.ज्ञान को हमेशा कपार पर उठाये रहते थे.माघ के जाड़े में...