Tuesday, July 23, 2019

Village Voice

Village Voice में शामिल होगी गाँव की वो आवाज,जो न जाने क्यों आज  शहरों की चिल्ल-पों में दब गयी है..दिन-रात की भागा-दौड़ी में हम भी न जाने क्यों उस गाँव की आवाज को महसूस करना छोड़ चूके हैं..अब तो गाय-भैंस  के रम्भाने और मुर्गे के बांग की जगह आईफोन के अलार्म ने ले लिया है..मैक डोनाल्ड के पिज्जा-बर्गर के आगे अब सतुआ-पिसान,गुड़ और चने के स्वादीष्ट साग  की याद अब कभी नहीं आती...गाँव की ओर में शामिल   Village Voice में हम  इसी कमी को दूर करेंगे प्रयास करेंगे की डोर बेल की घंटी में कभी-कभी अपने गाँव के बैलों की घंटी सुनाई दे

LAHNGA,GIRL IN LAHNGA,

लहंगा में लोकपाल ( शादी स्पेशल व्यंग )

रोजी का लहंगा पम्मी के लहंगे से महंगा और सुंदर है..इस पर कल सवा चार घण्टा बहस चली...एक बार लोकपाल बिल और जीएसटी बिल...
aaganwadi,aaganwadi news,

आँगनबाड़ी वाली भौजी ( स्त्री विमर्श की एक कथा )

गाँव के बाहर पुल पर बैठे पश्चिम टोला के बबलूआ ने नन्हकू बो भौजी को देखते ही मोबाइल कि आवाज को बढ़ाया गनवा उहे...
KATHA,KATHA KAHANI,EK KATHA

एक चरित्रवान भैंस की कथा

एक थे सुदामा राय..जिला बलिया द्वाबा के भूमिहार,एक मेहनती किसान,एक बड़े खेतिहर. कहतें हैं उनके पास दो गाय और एक भैंस थी.. एक साँझ कि बात...
MANTUA-PINKIYA,MANTUA PINKIYA LOVE LETTER,LOVE LETTER IN HINDI

मंटूआ का दूसरा लभ लेटर- ए पिंकी तहरा प्यार बिना

मेरी प्यारी पिंकी मेरी दिलवा की लालटेन,करेजा के फोंफी.हमार सुगनी.जानते हैं तुम्हारा भी लभलाइटिस बढ़ गया होगा. डीह बाबा काली माई के कसम,इ लेटर हम मोहब्बत...
winter,winter stories, winter masti,

जाड़े के दिन में वो प्रेम की आग…

जाड़े के दिन बुद्धत्व प्राप्ति के दिन होतें हैं...आत्मा और चित्त अनयास ही स्थिर रहतें हैं.. चिंतन मनन में मन खूब रमता है...भाव शुद्धि...

बसंत किलकंत है… ( ग्राम्य डायरी )

सरसो पियरा चुका है…हवा जब-जब बहती है,तब-तब मटर के फूल,गुलाब के महंगे फूल को मात देते हैं। चना पर ओस की बूंदों...
dhan ropai

ओ पिया परदेसिया ये धान की रोपनी ( विरहन व्यथा )

पिछले साल बैसाख में भौजी गवना करा के आई थी,ककन छूटे दू दिन हुआ था और मेहँदी अभी छूटा नहीं था कि चार दिन...
flood,flood in bihar

पुल पार करने से नदी पार नहीं होती…

"पुल पार करने से नदी पार नहीं होती" क्या खूब कहा है कवि नरेश सक्सेना ने.आज  पुल पार करते वक्त सोच रहा था आदमी...
चुनाव

हमरो सैयां हो गइले परधान ( चुनाव कथा )

साल डेढ़ साल पहले से चुनाव की  तैयारी..वोट का जोड़,घटाव गुणा,भाग.जुगाड़ आ तिगड़म का रिजल्ट आ गया....गांव-गाँव जश्न..मिठाई आ फूल माला का स्टॉक खतम.... अबीर...
kolkata story by atul kumar rai

रोजगार,पलायन,प्रेम बनाम पूरब देश की विरह कथा

खेदन सिंग बियाह कराने गए...परछावन में इतना खुश थे कि देखते बन रहा था.बाबी बैंड पार्टी सिकन्दरपुर बलिया ने "जीमी जीमी आजा आजा" बजाने...

सर्वाधिक लोकप्रिय

varanasi news,ustad bismillah khan shahnai,banaras samachar

उस्ताद..आज आपके साथ थोड़ा बनारस भी बिक गया

सादर प्रणाम   उम्मीद है आप जहाँ भी होंगे सकुशल होंगे..देखिये न आज आपके बनारस में सूरज दिल खोलकर निकला है,हवा पंख खोलकर बह रही...
mantua pinkiya, , love letter,valentaine day

मंटूआ-पिंकीया की असली प्रेम कहानी

मौसम में हल्की नमी थी और हवा में बंसत की सुवास.आसमान में देखते ही मन उड़ने लगता था.मानों वो चिल्ला-चिल्ला के कह रहा हो."अब...
insurance,dil ka insurance,health

बी.टेक्स वाले दुल्हनिया ले जाएंगे ?

आज छत पर धूप पसरी  है.अखबार लेकर बैठा हूँ.आसमाँ भी साफ़ है.पक्षी भी उड़ रहे..नावें भी ठीक से चल रहीं.लेकिन कमबख्त मेरा दिल बैठा...
diploma

डिप्लोमा इन दुनियादारी 

गाँव के स्कूल में एक मास्टर साहेब थे.नाम था तिरलोचन तिवारी उर्फ़ मरखहवा मास्टर.ज्ञान को हमेशा कपार पर उठाये रहते थे.माघ के जाड़े में...
whatsapp success story

WhatsApp हमें क्या सिखाता है ?

सपनों में उलझी है जिंदगी.हम सुलझा रहे हैं दिन-रात...आ रहे हैं,जा रहे हैं,भाग रहे हैं,जाग रहे हैं.कुछ देर बाद सुलझन की एक डोर में...